मानव शरीर एक जीता-जागता बिजलीघर.. कुंडलिनी जागरण की श्रेष्ठतम विधियाँ और लाभ

ब्रह्माण्ड में दो प्रकार की शक्तियां कार्य करती हैं, “मानव शरीर एक जीता-जागता बिजलीघर हैं” कुंडलिनी जागरण की श्रेष्ठतम विधियाँ

Read more

विष्णु शर्मा : भारतीय शास्त्रों एवं ग्रंथों के साथ विदेशी छेड़छाड़ को समझना जरूरी

हाल में ही माता सीता को लेकर एक अध्यापक विकास दिव्यकीर्ति के बयान पर काफी बवाल हुआ। उन्होंने महाभारत के

Read more

कृष्णकांत पाठक IAS : मांसाहार..इतिहास की विडम्बना परक व्याख्या

आज किसी समाचार पत्र में खबर थी कि पश्चिम के देश धीरे-धीरे शाकाहार की ओर अग्रसर हो रहे हैं और

Read more

विद्यासागर वर्मा : ईंश्वर प्रदत्त वेद स्वत: प्रमाण

वेदों के यथार्थ स्वरूप को जानने के लिए निम्न पहलुओं को ध्यान में रखना आवश्यक है , अन्यथा अर्थ का

Read more

संस्कृत को इसलिए पाठ्यक्रमों में अनिवार्य करना चाहिए… संस्कृत का गणित से अटूट संबंध…

संस्कृत भाषा का गणित से संबंध थोड़ा आश्चर्य पैदा करेगा, लेकिन सच तो ये है कि संस्कृत में सब कुछ

Read more

राकेश जॉन : मोदी मंदिर-मंदिर क्यों घूमते हैं.. संस्कृति और सभ्यता में अंतर

शिक्षा, सड़क, बिज़नेस, रोटी, पानी, कपड़ा, रोजगार, तकनीक, संचार इन सबसे एक राष्ट्र प्रगति करता है और विकास करता है।

Read more

स्त्री के सम्मान में हम तो सीता का नाम.. एक धूर्तता से अधिक कुछ नहीं…

करीब-करीब 1950 के लगभग जब गीता प्रेस ने रामचरितमानस छापा, तो उस संस्करण की विशेष बात ये थी कि उसमें

Read more

डॉ. शंकर शरण : आजीवन हिन्दू रहे गौतम बुद्ध..!

‘बुद्ध अपने पोर-पोर में हिन्दू थे।’ लेकिन ठीक इसी बात को नकारने के लिए बुद्ध धर्म की भ्रांत व्याख्या की

Read more

स्वामी सूर्यदेव : यजुर्वेद में तस्करों को नमन जघन्य को नमन..?

आप कहेंगे ये तो उचित नहीं,, चोर डाकू व्यभिचारी बलात्कारी देशद्रोही शत्रु को कोई कैसे नमस्ते करे?? देखते ही उनका

Read more

जयराम शुक्ल : ..पुरखों की विरासत और हम खुदगर्ज लोग

पितरपक्ष समापन की बेला में है। इसके बाद मातृपक्ष शुरू होगा, यानी कि नौदुर्गा। पंद्रह दिन का पितृपक्ष, शरद और

Read more

मनुष्य के सबसे सुंदर अंग पांव.. इतने सुंदर कि उन्हें पूजा जाता है…

  पुरुष की प्रतिष्ठा उसकी स्त्री तय करती है और स्त्री का सौंदर्य उसका पुरुष। कुछ तस्वीरें बहुत सुन्दर होती

Read more

महामृत्युंजय मंत्र की असीम ऊर्जा से फेल हुआ क्वांटम मशीन का मीटर 

चेतना, जो कि ऊर्जा की विवेकपूर्ण व संपूर्ण अभिव्यक्ति है, आज भी विज्ञान के लिए एक अबूझ पहेली है।  नई

Read more

मड़वारानी मंदिर में महामृत्युंजय जप..20 जुलाई को हवन

कोरबा। मां मड़वारानी सेवा एवं जनकल्याण समिति द्वारा संचालित मां मड़वारानी मंदिर में समिति के द्वारा प्रति वर्ष की भांति

Read more

शिवलिंग पर पैर लगाते एक व्यक्ति की तस्वीर सोशल मिडिया पर क्यों वायरल हो रही है?

जैसे ही खबर आई कि कोर्ट के आदेश पर बनी एक कमेटी की जांच में ज्ञानवापी मस्जिद के वजूखाने में

Read more

नीतिन त्रिपाठी : मेडिटेशन व्यक्तिगत जीवन में बहुत पॉज़िटिव चेंज लाता है

मेडिटेशन व्यक्तिगत जीवन में बहुत पॉज़िटिव चेंज लाता है. मैं वृश्चिक राशि वाला हूँ तो कभी भी किसी से पंगा

Read more

देवेंद्र सिकरवार : क्या होता जो कृष्ण और बुद्ध एक दूसरे के आमने सामने आते!

अभी वैष्णवी तिलक लगा दो यही पंचवटी वासी राम दिखने लगेंगे। (राम का वंशज ही बुद्ध का रूप धार सकता

Read more

स्वामी सूर्यदेव : सृष्टि की प्रथम पुस्तक…

हालांकि वेद का अर्थ ज्ञान होता है,,इसके अलावा लाभ.. अस्तित्व,, विचार भी वेद को ही कहते हैं… वेद को पुस्तक

Read more

संजय तिवारी मणिभद्र : …संस्कार के बाद 4 कदम उत्तर की ओर बच्चा क्यों चलता है ?

आज भी पूरे भारत में जब उपनयन संस्कार होता है तो उपनयन (जनेऊ) पहनने के बाद बच्चा चार कदम उत्तर

Read more

नवरात्र : महादेव सदा संग पर शुभचिंतक कालभैरव बिन देवी पर न लगे कोई रंग..

भैरव बिन देवी की कोई साधना सिद्ध नही होती. शक्ति के 9 रूपो शैलपुत्री,ब्रह्मचारिणी,चन्द्रघण्टा,कुष्मांडा,स्कन्दमाता, कात्यायानी,कालरात्रिि.महागौरी, सिद्धिदात्री नवदुर्गा को सब जानते

Read more

विक्रम संवत कैलेण्डर भारत में सर्वाधिक प्रयोग…जबकि यह नेपाल का आधिकारिक कैलेण्डर है…

यह हिन्दू-वर्ष विक्रम-सम्वत ही भारतीय संवत्सर है । चैत्र शुक्ल प्रतिपदा को ही नववर्ष मनाने के अनेक कारण हैं। काल

Read more

एस्ट्रो निशांत : वाहन दुर्घटना.. न अटकेंगे न भटकेंगे इसके तिलक से सीधे टारगेट पर पहुंचेंगे

एस्ट्रो निशांत (+917974939026) कहते हैं कि कुंडली में अगर दुर्घटना से संबंधित अशुभ योग होने पर व्यक्ति के साथ बार-बार

Read more

पीड़ा और चिढ़ : धर्म के नाम पर हनुमानजी कही सॉफ्ट नही

कुछ वर्ष पूर्व कर्नाटक के रहने वाले ‘करण आचार्य’ ने “क्रोधित हनुमान” की एक पेंटिंग बनाई थी, जिसकी प्रशंसा प्रधानमंत्री

Read more

सर्वेश तिवारी श्रीमुख : स्त्री दिवस ! विश्व अंधेरे में था तब हमारी संस्कृति की बेटियां वेद रच रही थीं..

सोच कर ही गर्व होता है कि आज से दस हजार वर्ष पूर्व जब अफ्रीका, अमेरिका, यूरोप में सभ्यता बसी

Read more