प्रोफ़ेसर योगेश्वर तिवारी के मुताबिक पीएम मोदी भारत के प्रतीक हैं. वे कहते हैं कि पीएम मोदी की बात करने पर हिंदी फिल्म का एक पुराना गीत याद आता है. ‘होठों पर सच्चाई रहती है, जहां दिल में सफाई रहती है.’ उनके मुताबिक पीएम मोदी के होठों पर सच्चाई है और दिल में सफाई है. यही वजह है कि पीएम मोदी आज देश ही नहीं बल्कि विश्व के ताकतवर नेताओं में शुमार किए जाते हैं.

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पीएम के रूप में 8 साल का कार्यकाल पूरा हो गया है. पीएम मोदी के कार्यकाल को लेकर देश के बुद्धिजीवी, इतिहासकार, पत्रकार और अर्थशास्त्री सभी अपने-अपने तरह से आंकलन कर रहे हैं. लेकिन इलाहाबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी के इतिहास विभाग के प्रोफेसर और जाने-माने इतिहासकार प्रो योगेश्वर तिवारी पीएम मोदी के आठ साल के कार्यकाल को ऐतिहासिक बता रहे हैं. प्रो योगेश्वर तिवारी के मुताबिक पीएम मोदी में निर्णय लेने की अद्भुत क्षमता है. पीएम मोदी ने 8 साल में जो भी निर्णय लिए हैं उससे देश आज विश्व की मजबूत अर्थव्यवस्था बनकर उभर रहा है.

प्रोफ़ेसर योगेश्वर तिवारी के मुताबिक पीएम मोदी भारत के प्रतीक हैं. वे कहते हैं कि पीएम मोदी की बात करने पर हिंदी फिल्म का एक पुराना गीत याद आता है. ‘होठों पर सच्चाई रहती है, जहां दिल में सफाई रहती है.’ उनके मुताबिक पीएम मोदी के होठों पर सच्चाई है और दिल में सफाई है. यही वजह है कि पीएम मोदी आज देश ही नहीं बल्कि विश्व के ताकतवर नेताओं में शुमार किए जाते हैं.

पीएम मोदी कभी संकुचित दायरे में नहीं सोचते हैं. पीएम मोदी जब बात करते हैं तो भारत की बात करते हैं. भारत के उस गौरव की बात करते हैं, जिससे भारत का प्रत्येक व्यक्ति जुड़ा हुआ है. उनके मुताबिक देश की आजादी के 75 वर्षों बाद भारत की शैक्षणिक व्यवस्था में उसके गौरव और संस्कृति से परिचय नहीं कराया गया. लेकिन पीएम मोदी आज भारत के क्षितिज पर खड़े होकर हमारी सभ्यता और संस्कृति से परिचय करा रहे हैं. इसलिए देश की जनता पीएम नरेंद्र मोदी को भारत के ब्रांड एंबेसडर के रूप में देख रही हैं और पीएम मोदी में सही मायने में देश की जनता भारत को देखती है.

प्रोफ़ेसर योगेश्वर तिवारी के मुताबिक पीएम मोदी भारत के प्रतीक हैं. वे कहते हैं कि पीएम मोदी की बात करने पर हिंदी फिल्म का एक पुराना गीत याद आता है. ‘होठों पर सच्चाई रहती है, जहां दिल में सफाई रहती है.’ उनके मुताबिक पीएम मोदी के होठों पर सच्चाई है और दिल में सफाई है. यही वजह है कि पीएम मोदी आज देश ही नहीं बल्कि विश्व के ताकतवर नेताओं में शुमार किए जाते हैं. पीएम मोदी कभी संकुचित दायरे में नहीं सोचते हैं. पीएम मोदी जब बात करते हैं तो भारत की बात करते हैं. भारत के उस गौरव की बात करते हैं, जिससे भारत का प्रत्येक व्यक्ति जुड़ा हुआ है. उनके मुताबिक देश की आजादी के 75 वर्षों बाद भारत की शैक्षणिक व्यवस्था में उसके गौरव और संस्कृति से परिचय नहीं कराया गया. लेकिन पीएम मोदी आज भारत के क्षितिज पर खड़े होकर हमारी सभ्यता और संस्कृति से परिचय करा रहे हैं. इसलिए देश की जनता पीएम नरेंद्र मोदी को भारत के ब्रांड एंबेसडर के रूप में देख रही हैं और पीएम मोदी में सही मायने में देश की जनता भारत को देखती है.

संकेतों में भी पीएम मोदी बहुत कुछ कहते हैं
इतिहासकार प्रो योगेश्वर तिवारी कहते हैं कि पीएम मोदी जो भी करते हैं उसमें कुछ न कुछ संदेश छिपा होता है. यह संदेश भारत की माटी से उपजा हुआ है. क्योंकि हम उस देश के वासी हैं, जहां पर गंगा बहती है. गंगा बोध कराती है समता का और समानता का. पीएम मोदी भी मां गंगा के इसी मूल मंत्र को लेकर आगे बढ़ रहे हैं. सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास के मूल मंत्र की वजह से पीएम मोदी आज देश और दुनिया में सर्वाधिक लोकप्रिय नेताओं में हैं.

पीएम मोदी जब कुंभ में सफाई कर्मियों के पांव पखारते हैं तो यह संदेश देते हैं कि कोई व्यक्ति छोटा और बड़ा नहीं होता है. बल्कि पीएम मोदी कुंभ में सफाई कर्मियों के पांव पखारकर लोगों को.यह संदेश देते हैं कि देश के निर्माण के लिए सफाई कर्मियों का भी योगदान अहम है. पीएम मोदी आज पोषण के सिद्धांत को स्वीकार करते हुए विश्व स्तर पर मानवीय संवेदनाओं के साथ जोड़कर वैश्विक नेतृत्व कर रहे हैं.

पीएम मोदी ने विश्व योग दिवस की शुरुआत की. उस साधना को जो करोड़ों वर्षों में भारत ने अर्जित कि उसे वैश्विक फलक पर पीएम मोदी ने ही पहचान दिलाई। पीएम मोदी अंत्योदय की बात करते हैं. यही सोच उन्हें अन्य नेताओं से अलग करती है. इतिहासकार प्रो योगेश्वर तिवारी कहते हैं कि पीएम मोदी उज्जवला की बात करते हैं, शौचालय निर्माण की बात करते हैं तो वह अंत्योदय की भी बात करते हैं. गांव में अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति के विकास और सरकारी योजनाओं को उन तक पहुंचाने की बात करते हैं. यही वजह है कि पीएम मोदी ने कोरोना काल में देश की जनता के लिए मुफ्त खाद्यान्न वितरण की योजना शुरू की, जो अभी तक चल रही है. यूपी में ही 80 करोड़ से ज्यादा लोग इससे लाभान्वित हो चुके हैं.
वह कौन सी बात है जो पीएम मोदी को दूसरे नेताओं से अलग करती है

इतिहासकार प्रो योगेश्वर तिवारी कहते हैं कि देश की जनता यह जानती है कि पीएम मोदी जन सेवा कर रहे हैं. उनका कोई और उद्देश्य नहीं है. पीएम मोदी सत्ता में बने रहने के लिए कोई कार्य नहीं करते हैं. बल्कि वह भारत के विकास के लिए कार्य करते हैं, घोषणाएं करते हैं. पीएम मोदी भारत को विश्व गुरु बनाने के लिए निरंतर काम कर रहे हैं. यही वजह है कि आज पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत वैश्विक नेतृत्व कर रहा है. भारत के कदम लगातार बढ़ते जा रहे हैं और भारत के बढ़ते कदम मोदी जी के साथ हैं.

प्रो. योगेश्वर तिवारी कहते हैं कि विपक्ष जो भी बातें कर रहा है वह चुनावी हथकंडे अपनाने की बात कर रहा है. कैसे चुनाव में सत्ता हासिल की जाए और मोदी जी जब बात करते हैं तो भारत की बात करते हैं. पीएम मोदी भारत से एक कदम आगे चलकर पूरे विश्व की सोच में भारत की सोच को जोड़ते हैं. यह फर्क है पीएम मोदी और देश के दूसरे राजनेताओं में. देश की जनता 8 सालों में पीएम मोदी के कार्यकाल को देखकर यह समझ चुकी है कि भारत क्या है लोगों को भारत की पहचान हो गई है.

पीएम मोदी की पहचान है सेवा परमो धर्म. प्रो योगेश तिवारी कहते हैं कि चाहे सोनिया गांधी, राहुल गांधी हों या प्रियंका गांधी गांधी वाड्रा उनकी कोई रणनीति पीएम मोदी के खिलाफ इसीलिए काम नहीं करती है क्योंकि वह आम जनता से कनेक्ट नहीं है. वह राजनीति में स्ट्रेटेजीजी की बात करते हैं. चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर को लाने की बात करते हैं. राजनीतिक पार्टी को कार्पोरेट वर्ल्ड की तरह चलाना चाहते हैं. जबकि पीएम मोदी जनता से सीधे तौर पर कनेक्ट हैं और जनता की नब्ज को पहचानते हैं. पीएम नरेंद्र मोदी ईमानदारी से जनता की सेवा में लगे हैं. पीएम मोदी भारत के बारे में सोचते हैं और भारत ही नहीं पूरे विश्व के बारे में सोचते हैं. देश की जनता जोड़तोड़ के साथ नहीं जुड़ना चाहती है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.